बिहार में कोरोना के बढ़ते केस देख सरकार ने लगाया ” नाईट कर्फ्यू” , अगर नहीं रुके केस तो लगाना पड़ सकता हे सम्पूर्ण ?

बिहार मे नाइट क कर्फ्यू लगने से कुछ चीजों पर पाबन्दी लगी मंगलवार को सीएम नीतीश कुमार की ने बैठक मे इस बात का फैसला लिया की रात के10 से 5 बजे तक नाईट कर्फ्यू रहेगा इसके साथ स्कूल बंद करने का फैसला लिया गया क्योकि देश मैं कोरोना का वारस तेजी फैल रहा हैं बिहार मे कोरोना के संक्रमण बढ़ने के कारण जिम, मॉल , मंदिर आदि को बंद करने के आदेश दिए हैं बिहार मे लोग कोरोना के प्रति लापरवाही बरत रहे इस वजह से वह पर कोरोना काफी तेजी से बढ़ रहा हैं काफी लोग की जान जा चुकी हैं बिहार के लोगो की मानस्किता विकसत नहीं हैं ओमकॉर्म भारत में तजि से बाद चूका हैं इससे बचने के लिए हमें सावधानी बरतनी होंगी भारत मैं ओमिक्रोंन के 8 मरीज मिले हैं

ओमिक्रोन 12 राज्यों मैं फैल चूका हैं ओमिक्रोण के लक्ष्ण तेज भुखार ,सिर दर्द ,ठण्ड लगना देखे जा रहे हैं। इससे सभी उम्र के लोग पर प्रभाव पड़ रहा लोगो को रोजगार की दिकत आएगी और बूढ़े लोगो घूमने बी नहीं जा खंगे और उनका सव्स्थ् ख़राब होगा बच्चो के स्कूल बी बंद हो जायेंगे जिसे बचे की पढ़ाई पर बुरा असर पड़ेगा हमारे देश के बच्चो आने वाले कल मैं करेंगे।

 

कोरोना के बढ़ते केस को देख सरकार ने उठाया बड़ा कदम

उनका भविष्य खरते में होगा और इस संक्रमण के चलते बेरोजगारी बढ़ती जाएग।इसलिए इस बचने के लिए नियमो का पालन करना चाहिए।ओमीक्रान के चलते ही हमे कही घूमे भी नहीं जा सकते इस वाइरस के चलते मंदिर मैं पूजा कर भी नहीं सकते।

लोगो की आस्था भगवान के प्रति बहुत हैं लोगो को मंदिर में जाने से सुकून मिलता हैं पर वारस की वजह से मंदिर बी बंद कर दिए गए हैं। लोग बाजारों में से कुछ खरीद नहीं सख्ते क्योकि ज्यादा भीड़ में संक्रमण फैलता हैं। बच्चे पढ़ाई भी लापरवाही कर रहे हैं. ओमिक्रोन बच्चो को नुकसान पहुंचा सकता है। क्योकि बच्चों को वैक्सीन नानी लगी हैं संकर्मित होने पर शरीर मैंएंटीबाडी डेवलप हो जाती हैं जिससे दोबारा होने का खतरा बकम होता है।

रात 10 से सुबह 5 बजे तक लोग नहीं निकल पायेंगे घर से बहार

एक्सपर्ट के अनुसार बच्चो में संक्रमण विकसित होने का खतरा ज्यादा बना रहता है। ओमीक्रॉन और डेल्टा वैरियंट के कारण देश मैं संकर्मित की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। ओमीक्रॉन वैरियंट काफी संक्रामक है। और यह तेजी से फैल रहा हैं ,जो कि भीड़- भाड़ वाली जगह पर जा रहा हैं। बच्चो मे ओमीक्रॉन के लक्ष्ण दिख रहे है जैसे शरीर मे साँस लेन वाले मार्ग के संक्रमण से जुड़े है। नाक बहना , गले मे दर्द ,शरीर मे दर्द,सुखी खांसी और भुखार मिल रहे है। बच्चों को संक्रमण से बचाने का सबसे आसान तरीका है

उन्हें भीड़ -भाड़ वाले जगह जाने से रोका जाये घर से बाहर निकलने पर मास्क लगाने को कहे और हाथ धोने को कहे बच्चो को इन सभी जानकारी के बारे मैं बताया जाये संक्रमण से बचने के लिए साफ सुथरी जगह पर र खाना खाया जाये और आस -पास सफाई रखनी चाहिए। हरी सब्जी और फलो का सेवन करना चाहिए अगर सावधानी नहीं बरती गयी तो इससे भयानक प्रभाव देखे जा सकते है।

+