लड़कियों के सामने कूल बनने के लिए करते थे संजय दत्त ड्रग्स – इंटरव्यू में किया खुलासा

अपने बेहतरीन अभिनय के लिए जाने जाने वाले प्रतिभाशाली अभिनेता संजय दत्त, एक प्रतिभाशाली निर्माता भी है. ये वही अभिनेता है जिन्होंने अपने जीवन में क्या नहीं देखा फिर भी उठकर खड़े हुए और अपना नाम दौबारा इंडस्ट्री में बनाया, उन्होंने अपने जीवन में बहुत से उतार चढ़ाव देखे है। संजय को अभिनय तो विरासत में मिला है उनके माता पिता भी अभिनय की दुनिया बहुत बड़ा नाम बना चुके हैं। संजय के माता-पिता को उनके अभिनय के लिए आज भी याद किया जाता है. इन्हें भी अपने के माता-पिता की तरह उनके अभिनय के लिए बहुत सराहा जाता है।

संजय दत्त के काम के मोर्चे पर

बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त की जिंदगी उतार-चढ़ावों से भरी रही है। हाल ही रिलीज हुई फिल्म KGF: Chapter 2 में अधीरा के रोल में तारीफें बटोर रहे संजय दत्त ने लेटेस्ट इंटरव्यू में अपनी कैंसर से स्ट्रगल के बारे में बताया। करीब 4 दशकों से फिल्म इंडस्ट्री का हिस्सा रहे संजय दत्त ने पर्सनल लाइफ में बहुत मुश्किलें झेलीं। वह वक्त भी था जब संजय दत्त ड्रग्स के दलदल में बुरी तरह फंस गए थे।

उन्हें ड्रग्स की लत लग गई थी। इससे उबरने के लिए संजय दत्त को रिहैबिलिटेशन सेंटर जाना पड़ा था। संजय ने दत्त ने हाल ही दिए एक इंटरव्यू में बताया कि जब वह रिहैबिलिटेशन सेंटर से वापस लौटे तो लोग उन्हें ‘चरसी’ कहकर बुलाने लगे थे। जो कि उन्हें काफी बुरा लगता था। संजय दत्त ने पॉप्युलर यूट्यूबर और मोटिवेशनल स्पीकर रणवीर अल्लाहबादिया को दिए इंटरव्यू में बताया कि उन्हें लगता था कि ड्रग्स की वजह से वह महिलाओं के सामने कूल दिखेंगे और इसलिए वह इनका सेवन करने लगे।जिंदगी में कई बार हम ऐसा कदम उठा लेते हैं, जिसकी कसक हमें जिंदगी भर झेलनी पड़ती है। संजय दत्त के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ, जब जिंदगी के गलत ट्रक से उन्होंने वापस लौटने का फैसला किया। इसके लिए उन्हें न सिर्फ लोगों के ताने सुनने पड़े, बल्कि कड़ी मेहनत के साथ अपने नाम पर लगे चरसी के धब्बे को हटाने में लंबा वक्त लगा।केजीएफ की बात करें तो प्रशांत नील की फिल्म का तीसरा पार्ट भी होगा। हाल ही में ईपी कार्तिक गौड़ा ने एक नए चैनल को बताया कि केजीएफ 3 पर काम शुरू हो गया है। डीट्स जल्द ही पालन करेंगे। संजय दत्त के काम के मोर्चे पर, उनके पास रणबीर कपूर के साथ शमशेरा, अक्षय कुमार के साथ पृथ्वीराज, रवीना टंडन के साथ घुड़चडी, पार्थ समथान और अन्य हैं।

 

लड़कियों को देखकर आती है थी शर्म

इस बात का खुलासा खुद संजय दत्त ने एक इंटरव्यू के दौरान किया। उन्होंने बताया कि रिहैबिलिटेशन से वापस आने के बाद लोग उन्हें चरसी कहकर बुलाने लगे थे। जीवन के 10 साल मैंने या तो बाथरूम में बिताए या अपने कमरे में… मैं शूटिंग करने बिल्कुल नहीं जाना चाहता था। सब कुछ बदल गया था, मैं रिहैब से वापस आया तो लोग मुझे चरसी कहकर बुलाने लगे।इस दौरान संजय दत्त ने यह भी बताया कि जब वह ड्रग लेते थे, तो उन्हें लगता था कि लोग उन्हें कूल समझेंगे। वह बहुत शर्मीले थे। खासकर लड़कियों को देखकर तो उन्हें बहुत ही शर्म आती थी। ऐसे में लड़कियों के आगे कूल दिखने के लिए उन्होंने ड्रग्स लेना शुरू कर दिया।बता दे केजीएफ चैप्टर 2 में संजय दत्त अधीरा के अवतार में नजर आए हैं। इस फिल्म में उनके साथ रवीना टंडन, मालविका अविनाश और यश मुख्य भूमिका में नजर आए हैं। यह फिल्म हिंदी के अलावा तमिल, तेलुगू और मलयालम में भी रिलीज हुई है। अपनी रिलीज के साथ बॉक्स ऑफिस पर धमाकेदार कमाई कर यह फिल्म हाउसफुल रिटर्न दे रही है।

+