करण के शो में विद्या बालन ने खोला अपना बेडरूम सीक्रेट

कुछ समय पहले तक बॉलीवुड सेलेब्स अपनी निजी जिंदगी को मीडिया से दूर ही रखते थे लेकिन अब वह खुलकर अपनी निजी जिंदगी के बारे में बात करते हैं। अब उन्हें कैमरे पर खुलेआम पर्सनल बातें करने में कोई हिचकिचाहट नहीं होती है।

हाल ही में एफएम चैनल पर एक चैट शो में फिल्म निर्माता और निर्देशक करण जौहर से बातचीत में एक्ट्रेस विद्या बालन और वाणी कपूर ने अपनी निजी जिंदगी से जुड़े कई राज खोले। रैपिड फायर राउंड में तो करण जौहर के कुछ खट्टे मीठे सवालों का जवाब विद्या बालन ने ऐसे दिया जिसके बारे में आप सोच भी नहीं सकते। उन्होंने अपनी बेडरूम लाइफ के बारे में खुलासा किया।

बैडरूम में मद्धम रोशनी रखना पसंद करती हैं विद्या बालन

करण जौहर ने विद्या बालन से सवाल करते हुए पूछा था कि उन्हें बेडरूम के किस तरह की लाइटिंग पसंद है चकाचोंध भरी या एक दम अंधेरा? विद्या बालन ने इसका जवाब देते हुए कहा कि उन्हें बैडरूम में मद्धम रोशनी रखना पसंद है। इसके बाद करण ने पूछा उन्हें बेडरूम में सबसे ज़्यादा क्या पसंद है कैंडिल या म्यूजिक ? इस पर विद्या बालन का जवाब था कि उन्हें दोनों पसन्द है। वहीं बेडशीट के सवाल पर विद्या ने जवाब दिया कि उन्हें कॉटन की बेडशीट पसंद है।

अभिनय जगत में विद्या बालन ने कई तरह के कैरेक्टर किये हैं

करण ने पूछा- ‘काम खत्म होने के बाद चॉकलेट, ग्रीन टी या एक और राउंड?’ तो विद्या का जवाब था- पानी! प्यास बुझाते बुझाते और प्यास लगने लगती है। यही सवाल जब करण ने वाणी कपूर से पूछे तो वाणी ने जवाब दिया कि उन्हें रॉन्सी म्यूजिक पसंद है। जब उनसे पूछा गया कि क्या आपको ब्लाइंड खेलना पसंद है या हैंडकफ्स के साथ तो उन्होंने कहा कि वो दोनों के साथ कंफर्टेबल हैं। जहां तक बात थी बेडशीट्स के टाइप की तो वाणी ने कहा कि उन्हें सिल्क शीट्स पसंद हैं। आपको बता दें कि विद्या बालन आखिरी बार फिल्म ‘तुम्हारी सुलू’ में और वाणी कपूर आखिरी बार फिल्म ‘बेफिक्रे’ में नजर आई थीं। दोनों फिलहाल किसी नए प्रोजेक्ट पर काम नहीं कर रहे हैं।

गौरतलब है कि अभी तक के अभिनय जगत में विद्या बालन ने कई तरह के कैरेक्टर किये हैं। उनके किरदारा अलग-अलग जोनर के होते हैं। मगर दर्शको को जिस किरदारा ने सबसे ज़्यादा दीवाना बनाया वो डर्टी पिक्चर का किरदार है। इस फ़िल्म में सिल्क का किरदार ले कर पर्दे के सामने आई विद्या बालन ने कई लोगों की रातों की नींद उड़ा दी। उससे पहले आकर्षण के जो मायने लोगों के जहन में थे वो सब हट गए थे। यही वजह थी कि यह फ़िल्म उस दौरान जबरदस्त साबित हुई थी।

+