बिना कोई काम किये कैसे इतने अमीर है जीतेन्द्र, आइये जाने


जितेंद्र का जन्म अप्रैल 1942 में अमृतसर, पंजाब, भारत में हुआ था। वह बालाजी टेलीफिल्म्स, एएलटी एंटरटेनमेंट और बालाजी मोशन पिक्चर्स के अध्यक्ष हैं। जितेंद्र एक्टिंग के साथ-साथ डांसिंग के लिए भी जाने जाते हैं। उनके नाम 250 से अधिक अभिनय क्रेडिट हैं।

कितनी संपत्ति के मालिक जीतेन्द्र

जितेंद्र एक भारतीय अभिनेता और निर्माता हैं जिनकी कुल संपत्ति 1500 करोड़ है। जितेंद्र, भारत में पैदा हुए। उनका असली नाम रवि कपूर है। वह एक पेशेवर अभिनेता, टीवी और फिल्म निर्माता हैं, और तीन प्रमुख भारतीय मनोरंजन प्लेटफार्मों के अध्यक्ष भी हैं। जितेंद्र एक भारतीय अभिनेता और निर्माता हैं, जिनकी कुल संपत्ति 1500 करोड़ है। जितेंद्र का जुए से बहुत पुराना नाता है।

जुए से आता है सारा पैसा

उन्हें कार्ड पार्टियों के राजा के रूप में भी जाना जाता है, उनके बंगले में आयोजित विशाल कार्ड गेम पार्टियों के कारण। इन पार्टियों में वह अपने बंगले को दो विशाल मंजिलों में फैले कार्ड गेम टेबल से भर देता था। इन तालिकाओं को प्रत्येक टेबल पर दांव लगाने वाली राशि के अनुसार वर्गीकृत किया जाता है। यह आदमी बार और सब कुछ के साथ अपने ही घर को एक मिनी-कैसीनो में बदल देता है! इन पार्टियों को दिवाली के त्योहार के दौरान सबसे ज्यादा जाना जाता है।

कई अवार्ड्स जीत चुके है जीतेन्द्र

जितेंद्र ने 2003 में फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड जीता। 2005 में उन्होंने स्क्रीन लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड जीता। उनका बड़ा ब्रेक 1964 में वी. शांताराम की फिल्म गीत गया पत्थरों ने में आया। जितेंद्र के करियर को 1967 में फिल्म फर्ज में अभिनय करके आगे बढ़ाया गया। उन्हें फिल्मी हस्तियों में लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड, लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से भी सम्मानित किया गया। ज़ी गोल्ड बॉलीवुड मूवी अवार्ड्स, “लीजेंड ऑफ़ इंडियन सिनेमा” अवार्ड, संसुई टेलीविज़न लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड और लाइफटाइम अचीवमेंट के लिए ज़ी सिने अवार्ड।


क्या आप जानते है हेमा मलीनी के साथ भी अफेयर था जीतेन्द्र का

सुपरस्टार जितेंद्र ने निर्माता शोभा कपूर से शादी की है। लेकिन ७० के दशक की बात थी जब संजीव कपूर को हेमा बहुत आकर्षक लगी और लगे भी क्यों ना वो ड्रीम गर्ल जो थी. संजीव कपूर ने जीतेन्द्र को उनकी बात चलाने को कहा. लेकिन जब वे प्रस्ताव लेकर गए तोह हेमा ने संजीव को मना कर दिया और जीतेन्द्र से प्यार का इज़हान कर बैठी.


हेमा और जीतेन्द्र बेइन्तेहाँ मोहब्बत में थे. उनके बीच कितना प्यार था की वे शादी करने वाले थे लेकिन नहीं कर पाए क्युकी हेमा पीछे हट गयी. इस सच का खुलासा हेमा ने अपनी आत्मकथा में किया है।

+